Mango Tree Information In Hindi – आम के पेड़ की सम्पूर्ण जानकारी

Mango Tree Information In Hindi – आम के पेड़ की सम्पूर्ण जानकारी

आम, (मैंगिफेरा इंडिका), काजू परिवार (एनाकार्डियासी) का मेंबर और उष्णकटिबंधीय दुनिया के सबसे इंपोर्टेंट और ज्यादा खेती वाले फलों में से एक है। आम के पेड़ को दक्षिणी एशिया, खासकर भारत के म्यांमार और असम राज्य के लिए लोकल माना जाता है, और कई Variety को विकसित किया गया है।

आम विटामिन ए, सी और डी का एक अच्छा सोर्स हैं। तो चलिए “आम के बारे में जानकारी (Mango Tree Information In Hindi)” जानते हैं –

आम क्या है? (Mango Tree Information In Hindi)

आम शब्द का मतलब मैंगिफेरा इंडिका पौधे के साथ-साथ इसके फल से है। पौधा, जो एनाकार्डियासी परिवार का सदस्य है, एक एवरग्रीन ट्री (सदाबहार पेड़) है। इसका फल दिखने में भिन्न होता है और उष्णकटिबंधीय वर्ल्ड के सबसे इंपॉर्टेंट और बड़े मात्रा में खेती वाले फ्रूट्स में से एक है। 

Mango Tree Information In Hindi
Mango Tree Information In Hindi

आम के पेड़ का भौतिक स्वरूप (Mango Physical Description In Hindi)

पेड़ सदाबहार होता है, अक्सर ऊंचाई में 15-18 मीटर (50-60 फीट) तक पहुंचता है और लम्बी उम्र का पौधा है। साधारण पत्ते लांसोलेट होते हैं, 30 सेमी (12 इंच) तक लंबे होते हैं। फूल – छोटे, गुलाबी और सुगंधित – बड़े टर्मिनल पैनिकल्स (ढीले गुच्छों) में पैदा होते हैं।

कुछ में पुंकेसर (स्टेमंस)और स्त्रीकेसर (पिस्टिल्स) दोनों होते हैं, जबकि दूसरो में केवल स्टेमन्स होते हैं। फ्रूट आकार और चरित्र में बहुत डिफरेंट होता है। इसका रूप अंडाकार, गोल, दिल के आकार का, गुर्दे के आकार का, या लंबा और पतला होता है। 

सबसे छोटे आम बेर से बड़े नहीं होते हैं, जबकि दूसरो का वजन 1.8 से 2.3 किलोग्राम (4 से 5 पाउंड) हो सकता है। कुछ variety लाल और पीले रंग के रंगों के साथ चमकीले रंग की होती हैं, जबकि दूसरे हल्के हरे रंग की होती हैं। सिंगल लार्ज बीज चपटा होता है, और इसके चारों ओर पीले से नारंगी रंग का, जूसी और स्पेशल मीठे-मसालेदार टेस्ट का होता है।

आम को किसी स्पेशल मिट्टी की आवश्यकता नहीं होती है, लेकिन महीन किस्मों से अच्छी फसल तभी मिलती है, जब फ्रूट उत्पादन को encouraged करने के लिए एक अच्छी तरह से ड्राई वेदर होता है। बरसात के क्षेत्रों में एन्थ्रेक्नोज नामक एक कवक रोग फूलों और यंग फ्रूट्स को बर्बाद कर देता है और इसे कंट्रोल करना मुश्किल होता है। इसका फैलाव ग्राफ्टिंग या बडिंग द्वारा होता है।

इनर्चिंग, या अप्रोच ग्राफ्टिंग (जिसमें स्वतंत्र रूप से जड़ वाले पौधों का एक जेनेटिक और स्टॉक ग्राफ्ट किया जाता है और बाद में अपने मूल स्टॉक से अलग कर दिया जाता है), उष्णकटिबंधीय एशिया में फेमस है लेकिन टेडियस और एक्सपेंसिव है। फ्लोरिडा में, अधिक एफिशिएंट तरीके- veneer ग्राफ्टिंग और चिप बडिंग- डेवलप्ड किए गए हैं और कमर्शियली यूज किए जाते हैं।

आम का इतिहास (History Of Mango Tree In Hindi)

आम भारत के लोककथाओं और धार्मिक समारोहों से स्ट्रॉन्ग कनेक्ट है। बुद्ध को स्वयं एक आम का गार्डन भेंट किया गया था कि वे उसकी छांव के नीचे रेस्ट कर सकें। आम नाम, जिसके द्वारा इंग्लिश और स्पेनिश भाषी कंट्रीज में फ्रूट जाना जाता है, सबसे अधिक मलयम मन्ना से लिया गया है, जिसे पुर्तगालियों ने मसाला व्यापार के लिए 1498 में केरल आने पर मंगा के रूप में एसेप्ट किया था।

शायद बीजों के ट्रांपोर्टिंग में प्रॉब्लम के कारण (वे केवल कुछ टाईम के लिए अपनी लाइफ एबिलिटी बनाए रखते हैं), लगभग 1700 तक, जब यह ब्राजील में लगाया गया था, तब तक पेड़ को पश्चिमी गोलार्ध में प्रेजेंट नहीं किया गया था; यह लगभग 1740 के आसपास वेस्ट इंडीज पहुंचा।

Mango का मौसम कब होता है?

हालाकि कई अलग-अलग वैरिटी हैं जिनके लिए अलग-अलग विकास कंडीशन की जरुरत होती है, जर्नली आम साल भर उपलब्ध होते हैं। हालांकि, यूनाइटेड स्टेट में आम खरीदने के लिए जून और जुलाई को सबसे अच्छा टाईम माना जाता है।

Mango tree कहाँ ग्रो होता हैं?

आम को दक्षिणी एशिया के लिए स्वदेशी माना जाता है, और आम के पेड़ आज ब्राजील, वेस्ट इंडीज, फ्लोरिडा और अन्य उष्णकटिबंधीय environment में पाए जा सकते हैं। आम को किसी स्पेशल मिट्टी की जरुरत नहीं होती है, लेकिन बेस्ट varity से अच्छी फसलें ही मिलती हैं, जहां फ्रूट कल्टीवेशन को encouraged करने के लिए एक अच्छी तरह से ड्राई वेदर होता है। सबसे अधिक आम का उत्पादन करने वाला देश इंडिया है।

क्या आप पॉट में आम ग्रो कर सकते हैं? 

Yes, कंटेनरों में आम के पौधों को ग्रो करना पॉसिबल है। सच कहूं तो, वे अक्सर उगाए गए कंटेनर, खासकर बौनी Variety को डेवलप करेंगे।

आम भारत के नेटिव हैं, इसलिए उन्हें वॉर्म टेम्परेचर पसंद है। बड़ी variety excellent पेड़ बनाती हैं और 65 फीट (20 मीटर) तक की ऊंचाई तक बढ़ सकती हैं और 300 साल तक जिंदा रह सकती हैं, फिर भी फ्रूटफुल होती हैं।

चाहे आप ठंडी क्लाइमेट में रहते हों या सिर्फ ग्राउंड में 65-फुट (20 मीटर) के पेड़ के लिए जगह न हो, कंटेनर में ग्रो किए गए mango’s ट्री के लिए कई बौनी variety हैं। 

पॉट में mango’s ट्री कैसे ग्रो करे?

बौने आम के पेड़ कंटेनर में ग्रो किए गए आम के पेड़ के रूप में परफेक्ट होते हैं; वे केवल 4 और 8 फीट (1 और 2.4 मीटर) के बीच बढ़ते हैं। वे यूएसडीए ज़ोन 9-10 में अच्छा करते हैं, लेकिन यदि आप आम की हिट और लाईट रिक्वायरमेंट को पूरा कर सकते हैं, या यदि आपके पास ग्रीनहाउस है, तो आप उन्हें घर के अंदर उगाकर मदर नेचर को भी fool बना सकते हैं। 

कंटेनर आम लगाने का सबसे अच्छा समय वसन्त ऋतु में होता है। कैरी या कॉगशॉल जैसी बौनी variety का सिलेक्शन करें, छोटे साइज के रेगुलर आम के पेड़ों में से एक, जैसे कि नाम डॉक माई, जिसे छोटा रखने के लिए काटा जा सकता है।

एक कंटेनर में उगाए गए आम के पेड़ के लिए आपको एक लाइटवेट, फिर भी गुड न्यूट्रीट, मिट्टी की जरुरत होगी। ex- 40% खाद, 20% प्यूमिक और 40% फॉरेस्ट फ्लोर मल्च है।

क्या mango आपके लिए स्वास्थ्य के लिए अच्छे हैं?

आम के फल विटामिन ए, सी और डी का एक अच्छा सोर्स हैं। ऐसे रिसर्च भी हैं जो बताते हैं कि आम वेट को कंट्रोल करने, कैंसर से लड़ने और डाइजेशन में improve करने में हेल्प कर सकते हैं। फिर भी, आम में दुसरे फ्रूट की तुलना में हाई शुगर होती है, जो कुछ लोगों के लिए रिस्की हो सकतें है।

Conclustion Of Mango Tree information In Hindi

यहा आपने आम के बारे में जानकारी दी और जाना कि आम क्या है? आम का इतिहास और “Mango Tree Information In Hindi” के बारे में जाना? अगर इससे जुड़ी कोई भी सवाल या फीडबैक है तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर पूछे और ज्यादा से ज्यादा शेयर करे।


Leave a Comment