Credit Score/Cibil Score Kya Hai?Cibil Score बढ़ाने के 6 तरीके?

Credit Score kya hai? / Cibil Score kya hai?

सभी व्यक्तियों को अपनी ज़रूरतों को पूरा करने के लिए पैसों की जरूरत पड़ती है।यदि हमारे पास पैसों की कमी होती है तो पैसों को की जरूरत को पूरा करने के लिए बैंक से लोन लेना पड़ सकता है क्योंकि आज बैंक से Loan लेने की Process काफी आसान है इसीलिए किसी भी बैंक में लोन के लिए Apply करने पर वह हमारे Credit Score या Cibil Score के बारे में पता करके लोन देना है या नहीं,इस बात का निर्धारण करता है।

सिबिल स्कोर या क्रेडिट स्कोर के आधार पर बैंक लोन पर लगने वाली ब्याज दरों को भी निर्धारित करता है। सिबिल स्कोर कम या ज्यादा होने पर बैंक कम या ज्यादा देने का फैसला करता है।

अगर आप बैंक से लोन लेना चाहते हैं और आपको अभी तक नहीं पता है कि “Credit Score kya hai या Cibil Score kya hai इसको कैसे बढ़ाया जाए” क्योंकि अगर आपको क्रेडिट स्कोर या सिबिल स्कोर जितना अच्छा होगा तो वह बैंक उतना ही ज्यादा लोन आपको आसानी से दे पाएगा क्योंकि क्रेडिट स्कोर आपके लोन चुकाने की क्षमता को प्रदर्शित करता है।

Credit Score CIBIL Score kya hai
Credit Score CIBIL Score kya hai

CREDIT SCORE KYA HAI या CIBIL SCORE KYA HAI?(CREDIT SCORE IN HINDI /CIBIL SCORE IN HINDI)

“क्रेडिट स्कोर एक तरह से हमारे द्वारा कि पूर्व में किए गए क्रेडिट का रिपोर्ट कार्ड होता है।”

अर्थात हमारे द्वारा पूर्व में लिए गए सभी लोन जैसे कि पर्सनल लोन, होम लोन ,EMI और कई तरह के अन्य ऋण,उनका भुगतान सही समय पर किया गया है या नही,इस आधार पर यह क्रेडिट रिपोर्ट तैयार की जाती है और इसे ही CREDIT SCORE या CIBIL SCORE कहते है

कोई भी बैंक सभी कस्टमर्स का क्रेडिट स्कोर तय नहीं कर सकते हैं।इसके लिए कहीं कंपनी कस्टमर्स का डाटा सभी बैंक से साझेदारी कर Collect करती है और उनका क्रेडिट स्कोर को तैयार करती है और इसी के आधार पर सभी बैंक किसी व्यक्ति को लोन देने के बारे में विचार करता है।

इंडिया में CIBIL, Experian Credit Information Co. Of India Pvt. Ltd, Equifax Credit Information Services प्रमुख कंपनियां है जो क्रेडिट स्कोर का आकलन करती है।इनमे से सबसे पुरानी कंपनी CIBIL (Credit Information Bureau India Limited) है और इसी आधार पर क्रेडिट स्कोर को सिबिल स्कोर भी कहा जाता है।

क्रेडिट स्कोर का आकलन 300 से 900 के मध्य किया जाता है और यह स्कोर जितना ज्यादा होता है,बैंक से लोन लेना उतना ही आसान होता है।

BANK से LOAN लेने के लिए CREDIT SCORE या CIBIL SCORE कितना होना चाहिए?

बैंक से लोन लेने के लिए क्रेडिट स्कोर/सिबिल स्कोर कितना होना चाहिए। Credit Score को सामान्यतया 300 से 900 के बीच में होता है।

क्रेडिट स्कोर को तीन भागों में बाँटा जा सकता है।

  • 650 से कम क्रेडिट स्कोर पर बैंक लोन देने से कतराते हैं। यदि बैंक लोन देने का निर्धारण करता भी है तो उसकी शर्तें कड़ी रहती है क्योंकि 650 से कम क्रेडिट स्कोर को बहुत ही बुरा माना जाता है।
  • 650 से 750 क्रेडिट स्कोर को सामान्य माना जाता है और इस पर बैंक लोन देने के लिए विचार कर सकता है लेकिन इस पर लोन मिलने के चांसेस काफी कम होते है, लगभग 20% लोग ही इस पर लोन पाते है।
  • 750 से ज्यादा क्रेडिट स्कोर को बहुत ही अच्छा माना जाता है और इस क्रेडिट स्कोर पर लगभग सभी व्यक्तियों को लोन मिल जाता है।सिबिल के अनुसार लगभग 79% यूज़र को इस क्रेडिट स्कोर पर लोन मिल जाता है।

How To Check Cibil SCORE? (क्रेडिट स्कोर कैसे पता करें?)

सिबिल स्कोर का पता करने के लिए कई वेबसाइट उपलब्ध है।जिन पर सिबिल स्कोर का पता फ्री में किया जा सकता है।इनमें से कुछ प्रमुख वेबसाइट पॉलिसी बाजार आदि है। इसके अलावा सिबिल स्कोर का पता करने के लिए CIBIL की मुख्य वेबसाइट पर विजिट कर सकते है।

सिबिल के मुख्य साइट पर अपनी जानकारी (Name,Dob,Pan Card, Adress Etc) भरकर  एक बार फ्री रिपोर्ट तैयार कर सकते हैं और उसे डाउनलोड कर सकते हैं।अगर आप एक बार से ज्यादा फ्री रिपोर्ट चाहते हैं तो आपको इसके लिए ₹550 का शुल्क देना पड़ सकता है।

TIPS TO INCREASE CIBIL SCORE(क्रेडिट स्कोर को कैसे बढ़ाएं)

क्रेडिट स्कोर किसी भी मुश्किल में बैंक लोन लेने के लिए इतना मददगार है तो जाहिर सी बात है कि हमें हमेशा अपने क्रेडिट स्कोर को ज्यादा रखना चाहिए ताकि सिबिल स्कोर ज्यादा होने से हमें बैंक से लोन लेने में ज्यादा मशक्कत ना करनी पड़े तो हम यहां पर कुछ Tips बताने जा रहे हैं जिसका उपयोग करके आप हमेशा अपने क्रेडिट स्कोर को बढ़ा सकते हैं।

  • जरूरत होने पर ही लोन लेने की कोशिश करें और उनका भुगतान समय पर करें।
  • बैंक द्वारा दिये गए क्रेडिट कार्ड में एक लिमिट होती है तो क्रेडिट कार्ड में दिए गए लिमिट से ज्यादा यूज ना करें।
  • हमेशा सुरक्षित लोन लेने को ही अहमियत दें और असुरक्षित लोन लेने से बचे।
  • अपने अकाउंट से तो क्रेडिट स्कोर की जानकारी से हमेशा अपडेट रहे।
  • अपने अकाउंट से लेनदेन जारी रखें और अपने अकाउंट को बंद ना करें।
  • जरूरत से ज्यादा लोन कभी भी ना ले क्योंकि यह आपके क्रेडिट स्कोर को बिगाड़ सकता है।

दोस्तों इस आर्टिकल ने बताया है कि “क्रेडिट स्कोर क्या है?CIBIL SCORE KYA HAI? सिबिल स्कोर को कैसे बढ़ाया जा सकता है?क्रेडिट स्कोर कैसे चेक करें? बैंक से लोन लेने के लिए कितने क्रेडिट स्कोर की आवश्यकता होती है?”

अगर आप कोई जानकारी पसंद आई है तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर करना ना भूले और आप हमारे ब्लॉग पर नई जानकारी के लिए हमेशा जुड़े रहे।



About Kavish Jain

में अपने शौक व लोगो की हेल्प करने के लिए Part Time ब्लॉग लिखने का काम करता हूँ और साथ मे अपनी पढ़ाई में Bed Student हूँ।मेरा नाम कविश जैन है और में सवाई माधोपुर (राजस्थान) के छोटे से कस्बे CKB में रहता हूँ।

1 thought on “Credit Score/Cibil Score Kya Hai?Cibil Score बढ़ाने के 6 तरीके?”

Leave a Comment