Best Essay On Discipline In Hindi अनुशासन पर निबंध

प्रिय दोस्तों आज हम आपके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण विषय अनुशासन पर निबंध (Essay On Discipline In Hindi) देने जा रहे हैं।सर्वप्रथम हमें अनुशासन का अर्थ समझना होगा।

Essay on Discipline in hindi
Essay on Discipline in hindi

अनुशासन पर निबंध (Essay On Discipline In Hindi)

अनुशासन का सरल अर्थ है जिसमें अनु का मतलब नियम होता है एवं शासन का मतलब पालना होता है अर्थात नियमों की पालना करना। अनुशासन को अंग्रेजी भाषा में डिसिप्लिन (Discipline)कहते हैं जिसका अर्थ होता है नियमों का अनुसरण करने वाला। 

अनुशासन को दो प्रकार से विभाजित किया जा सकता है – एक प्रकार तो वह है जो हम बाहरी समाज से प्राप्त होता है जैसे माता-पिता, गुरुजन एवं परिजन एवं दूसरा जो हमारे खुद के भीतर ही उत्पन्न होता है। 

इसमें दूसरे प्रकार के अनुशासन का बहुत ही महत्व का है जो व्यक्ति जीवन में स्वयं से अनुशासित हो जाता है वह लक्ष्य से कभी नहीं भटकता।

एक अनुशासनात्मक व्यक्ति हमेशा समय एवं स्थिति के अनुसार चलने का प्रयास करते हैं।

अनुशासन का महत्व

अनुशासन का महत्व इस बात से लगाया जा सकता है कि अगर सूर्य अपने व्यवहार से इतर होकर समय से उदय और अस्त ना हो तो प्रकृति का संतुलन बिगड़ जाएगा। अगर पृथ्वी अपने चक्कर के अनुसार घूमना बंद कर दे तो इस पृथ्वी पर भयंकर तूफान, बाढ़,सूखा आदि की समस्याएं आ जाएंगे। अब आप भली-भांति समझ गए होंगे कि अनुशासन का प्रकृति में कितना महत्व है। प्रत्येक व्यक्ति को अनुशासन के नियमों का पालन करना चाहिए क्योंकि अनुशासन ही सफलता की कुंजी है। अनुशासन के सहारे कोई भी मंजिल प्राप्त की जा सकती है 

विद्यार्थी जीवन में अनुशासन का महत्व

एक गुरु की अपने विद्यार्थी से अपेक्षा रहती है कि वह अनुशासन में हो क्योंकि वह जानते हैं कि जब तक विद्यार्थी अनुशासन का महत्व नहीं समझता तब तक वह अपना जीवन सार्थक नहीं बना सकता। 

एक शिष्य अनुशासन में रहता है तो वह सफलता अवश्य प्राप्त करता है। विद्यार्थी जीवन में अनुशासन का बहुत ही आवश्यकता होती है क्योंकि यह वह समय है जब एक व्यक्ति अपना कौशल विकसित कर रहा होता है। हमें बचपन से ही अनुशासन को अपने जीवन में उतारना चाहिए। जैसे कि अपने माता-पिता एवं गुरुजनों द्वारा दिया गया महत्वपूर्ण ज्ञान को समझना व अपने जीवन में उतारना। उनके दिए हुए कार्य को समय पर पूरा करना चाहिए। उनका निरादर नहीं करना चाहिए, अच्छा व्यवहार करना चाहिए। 

बचपन से ही अनुशासन का महत्व समझ आने से व्यक्ति का जीवन सुधर जाता है। विद्यार्थी जीवन में सुबह सवेरे उठने का नियम बनाना चाहिए। समय से उठ कर अपने दैनिक कार्य जैसे नहाना, बिस्तर व्यवस्थित करना, कमरे में इधर-उधर रखी हुई चीजों को एक सिरे से व्यवस्थित करना आदि अनेक कार्य को समय पर पूरा करना चाहिए। 

जब विद्यार्थी समय पर अपने कार्य पूरा करना सीख लेता है अर्थात अनुशासन का पाठ समझ जाता है तो वह अपने आगे के जीवन में भी बिना किसी व्यवधान के अपने लक्ष्य की ओर अग्रसर होता जाता है और सफलता को निश्चित ही प्राप्त करता है।

अनुशासन का हमारे जीवन में क्या महत्व है?

हमारे जीवन में अनुशासन का बहुत महत्व है विद्यार्थी जीवन में शिक्षा के लिए अनुशासन जरूरी है एवं नौकरी पेशा वाले व्यक्ति को अपने दैनिक कार्य लक्ष्य की प्राप्ति के लिए अनुशासन आवश्यक है एवं किसी व्यवसाय को अपने लक्ष्य के लिए अनुशासन की बहुत ही आवश्यकता होती है बिना अनुशासन अपने लक्ष्य को प्राप्त करना बहुत ही मुश्किल है।

अनुशासन से क्या लाभ होते हैं?

अनुशासन हमारे जीवन की सफलता का केंद्र बिंदु है एक अनुशासित व्यक्ति को अपने रिश्तेदार समाज में उच्च स्थान प्राप्त होता है। उससे तय लक्ष्यों को समय पर पूरा करने के लिए वह सभी की नजरों में सम्मान का अधिकार हो जाता है।

जब किसी क्षेत्र में अनुशासन होता है तो  वह कार्य समय पर पूरा होते है। विद्यार्थियों के लिए अनुशासन सफलता की कुंजी मानी जाती है। एक पेशेवर व्यक्ति हो या केवल घरेलू कार्य में लगा हुआ ग्रहणी सभी के लिए अनुशासन की महत्वता है।

अनुशासन ना होने के कारण होने वाली परेशानियां

जब व्यक्ति के जीवन में अनुशासन नहीं होता है तो वह कई समस्याओं से ग्रस्त हो जाता है। अनुशासनहीनता के कारण वह आलस्य, कार्य के प्रति अरुचि, निराशा जैसे परेशानियों से ग्रसित हो जाता है और अपने कोई भी काम समय पर पूरा नहीं कर पाता है। 

अपने तय लक्ष्यों का समय से प्राप्ति करने के लिए जूझता रहता है वह इसी असमंजस में रहता है कि इतनी मेहनत के बाद भी मुझे सफलता क्यों नहीं प्राप्त हो रही, ये सब अनुशासनहीनता का ही परिणाम होता है। बिना अनुशासन अपनाएं व्यक्ति का जीवन नियमों में नहीं चल पाता एवं वह भटक जाता है एवं उनको निराशा घेर लेती है।

अनुशासनहीनता के कारण हमारे जीवन में प्रगति नहीं हो आती है वह हम ढेर सारी समस्याओं से गिर जाते हैं क्योंकि किसी भी लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए हमारे भीतर अनुशासन एवं नियमों की पालना करने की इच्छा होनी आवश्यक है तभी हम अपने दिए लक्ष्य की प्राप्ति कर सकते हैं।

उपसंहार (Conclusion Essay On Discipline In Hindi)

अनुशासन वह है जो किसी भी व्यक्ति को अपने जीवन में सफलता प्राप्त करने में सहायक होता है, जो व्यक्ति अपने जीवन में अनुशासन को अपना लेता है, वह कई परेशानियों से बच जाता है। 

वह अपना लक्ष्य बिना किसी रूकावट के पूरा करने के लिए सदैव तत्पर रहता है एवं लक्ष्य प्राप्ति के बाद ही दम लेता है हर व्यक्ति को अनुशासन का महत्व जानकर अपने जीवन में सिद्ध करना चाहिए।

दोस्तों अब आप अनुशासन का महत्व Essay on Discipline in hindi समझ गए होंगे। इसके महत्व को जानकर आप भी अपने जीवन में अनुशासन को अपनाकर भविष्य उज्जवल बना सकें।


Leave a Comment