गणतंत्र दिवस पर निबंध Essay On Republic Day In Hindi 2021

आज इस आर्टिकल में हम “गणतंत्र दिवस पर निबंध (Essay On Republic Day In Hindi)” Gantantra Diwas Par Nibandh पर लिखने जा रहे है।

गणतंत्र दिवस पर निबंध Essay On Republic Day In Hindi 2021

Essay On Republic Day In Hindi
Essay On Republic Day In Hindi

हमारा देश भारत में 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस वर्ष 2021 में हमारा देश अपना 72 वां गणतंत्र दिवस मनाने जा रहा है । इस दिन प्रत्येक देशवासी तीन रंगों के राष्ट्रीय ध्वज को सम्मानपूर्वक साथ में लिए गर्व महसूस करता है, तो आइए जानते हैं गणतंत्र दिवस के महत्व के बारे में।

गणतंत्र दिवस का महत्व

इस दिवस की कल्पना वर्ष 1930 में की गई थी जब भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में पूर्ण स्वराज को अपना लक्ष्य बनाया था। इस दिवस को हमारा संविधान अस्तित्व में आया था जो कि प्रत्येक भारतीय के लिए गर्व का विषय था।

इसी दिवस को भारत एक स्वतंत्र गणराज्य बन गया था, इससे पूर्व भारत एक राजतंत्र  देश था। भारत में गणतंत्र दिवस को राष्ट्रीय पर्व के तौर पर बहुत ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। यह वह दिन है जिस दिन भारत का संविधान लागू हुआ था।

Related:  राजस्थान शुभ शक्ति योजना 2021 की जानकारी

भारत का संविधान 26 जनवरी 1950 को लागू किया गया था। इससे पहले भारत में गवर्नमेंट ऑफ इंडिया एक्ट 1935 लागू था जो ब्रिटिश शासन द्वारा भारत  के लोगों पर लागू किया गया था।

गणतंत्र दिवस को मनाने का उद्देश्य

भारत को खुद का संविधान  प्राप्त होने के अवसर पर इस दिवस का  राष्ट्रीय पर्व के रूप में आयोजन होता है। हमारे देश भारत में ब्रिटिश शासन का बहुत लंबे समय तक राज हुआ था एवं कई सालों तक भारत ब्रिटिश शासन एवं अन्य देशों ने भारत को अपने अधीन रखा था। ब्रिटिश का शासन लंबे समय लगभग 200 वर्षों तक एवं अंतिम शासन रहा था। इस कारण से ब्रिटिश शासन के समय बनाए गए कानून हमारे भारत के लोगों पर लागू किया गया था इन्हीं कानूनों से भारत में शासन चलता था।

भारत को स्वतंत्रता सेनानियों ने कड़ी मेहनत एवं समर्पण से 15 अगस्त 1947 ब्रिटिश शासन से आजादी दिलाई। आजादी के बाद भारत स्वतंत्र लोकतंत्र के रूप में घोषित हुआ। अब समस्या यह थी कि भारत अपना शासन कैसे लागू करें इसके लिए भारत को संविधान की आवश्यकता थी। इसके लिए सदन द्वारा संविधान सभा के लिए कमेटी बनाई गई । भारतीय संविधान को लागू करने में लगभग 2 साल 11 महीने वह 18 दिन लगे जिसके बाद 26 जनवरी 1950 को भारतीय संविधान लागू हो पाया।

भारतीय संविधान किस प्रकार अपने मूल स्वरूप में आया?

भारतीय संविधान से भारत देश को स्वतंत्र एवं लोकतांत्रिक गणराज्य घोषित हुआ था। 26 जनवरी को भारतीय संविधान लागू होने के बाद प्रत्येक वर्ष 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है।

Related:  राष्ट्रीय एकता पर निबंध Essay On National Unity In Hindi

भारत के संविधान को बनाने के लिए संविधान कमेटी का गठन किया गया था जिसकी अध्यक्षता डॉक्टर बी आर अंबेडकर के द्वारा की गई।

भारतीय संविधान के ड्राफ्ट को सदन के सामने दिनांक 4 नवंबर 1947 को लाया गया, जिसको लगभग 3 साल में पूरा कर लिया गया। यहीं से भारतीय संविधान को तैयारी शुरू हो गई थी। भारतीय संविधान को तैयार करने के लिए बहुत ही कड़ी मेहनत एवं नियम कानून जिससे प्रत्येक देशवासी को अपने अधिकारों का संरक्षण प्राप्त हो सके एवं भारत का शासन स्वतंत्र एवं लोकतांत्रिक रूप से कार्य कर सकें। 

विद्यालयों में गणतंत्र दिवस का महत्व

गणतंत्र दिवस को पूरे देश में राष्ट्रीय पर्व के रूप में मनाया जाता है जिसमें प्रत्येक सरकारी कार्यालय विद्यालय कॉलेज अन्य निजी संगठन प्रत्येक वर्ष 26 जनवरी को मनाते हैं। विद्यालयों में गणतंत्र दिवस को बहुत ही हर्षोल्लास से मनाते हैं। विद्यालय में बच्चों द्वारा परेड का आयोजन किया जाता है एवं राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाता है। कई सारे देश भक्ति से प्रेरित एवं सांस्कृतिक प्रोग्राम का आयोजन होता है, जिसकी तैयारियां बच्चे व शिक्षक कई दिनों पहले से ही शुरू कर देते हैं, इसमें विशिष्ट अतिथि एवं बच्चों के अभिभावकों को भी बुलाया जाता है एवं देश का झंडा फहराया जाकर सम्मान पूर्वक देश प्रेम का संदेश दिया जाता है।

Related:  BODMAS Formula In Hindi बोडमास का नियम ,फुल फॉर्म व उदाहरण

भारत की राजधानी नई दिल्ली में होने वाले गणतंत्र दिवस का महत्व

इससे दिवस को मनाने के लिए राजपथ पूरी तरह सज जाता है। इस दिन भारत के प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति द्वारा विशेष संदेश अपने देशवासियों के लिए देश की एकजुटता में दिया जाता है। प्रत्येक राज्य की राजधानियों में इसका आयोजन किया जाता है। 

नई दिल्ली पर बड़े पैमाने से इसका आयोजन किया जाता है एवं विशेष अतिथि के तौर पर अन्य देशों के राष्ट्रियाध्यक्ष आदि अन्य बुलाए जाते हैं। इसमें राष्ट्रपति द्वारा कार्यक्रम का आयोजन शुरुआत की जाती है झंडारोहण और राष्ट्रगान किया जाता है। भारत की सशक्त तीनों सेनाओं जल, थल एवं वायु सेना अपनी कुशलता का प्रदर्शन किया जाता है।  जिसको देखकर देशवासियों में खुशी की लहर दौड़ जाती है एवं गर्व महसूस होता हैं। 

गणतंत्र दिवस के दिन राष्ट्रपति द्वारा पदम पुरस्कार समेत अन्य पुरस्कार वितरण किए जाते हैं। इस दिन राष्ट्रपति द्वारा परेड की सलामी ली जाती है एवं अपने देश की रक्षा करते हुए शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि एवं वीरता के लिए परमवीर चक्र अशोक चक्र वीर चक्र आदि पुरस्कार दिए जाते हैं।

26 जनवरी को मनाए जाने वाला गणतंत्र दिवस प्रत्येक देशवासी के लिए गर्व महसूस करने वाला दिवस होता है जिससे राष्ट्र के प्रति प्रेम एवं सम्मान का संदेश जाता है।

Conclusion Essay On Republic Day In Hindi

दोस्तों आपको यह गणतंत्र दिवस पर निबंध(Essay On Republic Day In Hindi) कैसा लगा? हमें कमेंट बॉक्स में बताएं।

Share On :-
    Share on:                        

में अपने शौक व लोगो की हेल्प करने के लिए Part Time ब्लॉग लिखने का काम करता हूँ और साथ मे अपनी पढ़ाई में Bed Student हूँ।मेरा नाम कविश जैन है और में सवाई माधोपुर (राजस्थान) के छोटे से कस्बे CKB में रहता हूँ।

   

Leave a Comment