गिलोय क्या है? गिलोय के फायदे और नुकसान ,कैसे करे इसका सेवन ?

Benefits Of Giloy In Hindi – आयुर्वेद में औषधीय पौधों का खजाना भरा हुआ है।ऐसा ही औषधीय गुणों से भरपूर एक प्रकार की बेल है “गिलोय”।

गिलोय को आयुर्वेद में अमृता के नाम से जाना जाता है।इसके अन्य नाम गुडुची, छिन्नरुहा, चक्रांगी, गुर्च, मधुपर्जी, जीवन्तिका भी है।

कोरोना काल मे प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत करने के लिए गिलोय के फायदे की वजह मांग काफी बढ़ गयी है लेकिन इसके अलावा भी इसको सेवन करने के कई लाभ है।
आज इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि गिलोय क्या है? गिलोय के फायदे और नुकसान ,गिलोय के सेवन का तरीका ,गिलोय की पहचान आदि के बारे में ,यह जानकारी आपके लिए बहुत ही कारगर साबित होगी।

गिलोय क्या है? What Is Giloy In Hindi

Giloy In Hindi गिलोय के फायदे
Giloy In Hindi

Giloy एक तरह की बेल है।यह प्रायः जँगलो और मैदानी श्रेत्र में पायी जाती है।गिलोय के अनेक फायदे और नुकसान है।काफी पुराने टाइम से इसका प्रयोग औषधि रूप में किया जाता है।

यह नीम के पेड़ के साथ भी उगती है इसलिए इसे नीम गिलोय भी कहते है।गिलोय शुगर की बीमारी को दुर करने का काम करती है।  

गिलोय का वैज्ञानिक नाम टीनोस्पोरा कर्डिफोलिआ है।

गिलोय पर फूल पत्तिया गर्मी के मौसम में आते है।गिलोय को हम लोग घर पर भी ऊगा सकते है।यह आसानी से घर पर उग आती है। 

गिलोय के पत्ते स्वाद में कड़े व तीखे होते है।गिलोय के पत्ते पान के पत्ते की तरह बड़े होते है।गिलोय पर गर्मी के दिनों में फूल खूब आते है।

गिलोय के फायदे और नुकसान 

गिलोय के फायदे (Giloy Ke Fayde – Benefits Of Giloy In Hindi)

गिलोय के फायदे बहुत सारे है और अलग अलग बीमारी के लिए इसे अलग अलग पदार्थो के साथ mix करके भी लिया जाता है।तो जानते है गिलोय के फायदों के बारे में –

  1. गिलोय एक प्रकार का औषधीय पौधा है।यह हमारे शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने का काम करती है।
  2. गिलोय के सेवन से हमारे शरीर का खून साफ होता है।
  3. यह हमारे शरीर  में पैदा होने वाले बैक्टीरिया को मारने का काम करता है।
  4. गिलोय  से बार-बार होने वाले बुखार से फायदा मिलता है।
  5. गिलोय की पत्तियों के रस से कान का दर्द ठीक होता है।
  6. गिलोय का रस उच्च रक्तचाप को कम करने का काम  करता है।
  7. गिलोय के पत्ते हमारे चेहरे पर होने वाले किल ,मुहाँसे , चेहरे पर होने वाले दाग-धब्बे को खत्म करने का काम करती है।
  8. पेट की कई बीमारियों में भी गिलोय बहुत काम  करती है।
  9. गिलोय कैंसर को रोकने का भी काम करती है।
  10. गिलोय सिरदर्द को मिटाने का भी काम करती है।
  11.  गिलोय वीर्य व बुद्धि बढ़ाती है।गिलोय को स्वास्थ्य का प्रयाय माना जाता है।
  12. कोरोना के दौरान यह अत्यधिक फायदेमंद औषधि है। कोरोना के रोगियों को रोजाना गिलोय के पत्ते खाने चाहिए।
  13. गिलोय का प्रयोग करके वात व कफ  को ठीक किया जा सकता है।
  14. महिलाओ की शारीरिक कंडीशन भी गिलोय के माध्यम से ठीक की जाती है।
  15.  गिलोय खाने से आपका फैट या मोटापा तेजी से कम होने लगता है।
  16. गिलोय चूर्ण के द्वारा आपके शरीर का मोटापा कम किया जा सकता है।
  17. गिलोय को ज्वरनाशक के रूप में काम लिया जाता है।
  18. जिन लोगो की आँखों की रोशनी कमजोर है उसे  गिलोय का सेवन आंवले के रस के साथ सुबह-शाम करना चाहिए।
  19. गिलोय का प्रयोग चिकनगुनिया के रोगियों के लिए भी किया जाता है।
  20. गिलोय का रस कामेच्छा को भी बढ़ाता है।

गिलोय के नुकसान 

  1. गिलोय का अत्यधिक सेवन करने से पाचन सम्बन्धी समस्या हो जाती है।
  2. पेट के रोगियों को गिलोय का सेवन करने से बचना चाहिए गिलोय का पेट सम्बंधित बीमारियों पर अत्यधिक नुकसान होता है।
  3. प्रेगनेंसी होने पर गिलोय  का सेवन नहीं चाहिए।

गिलोय की तासीर

आयुर्वेद में दवा की तासीर का ध्यान रखा जाता है और तासीर के अनुसार सेवन करने में मौसम का ध्यान रखा जाता है।

गिलोय की तासीर गर्म होती है इसीलिए यह सर्दी जुकाम व बुखार में बहुत ही फायदेमंद होती है।

गिलोय के सेवन का तरीका

गिलोय का प्रयोग सबसे ज्यादा बुखार में करना चाहिए। गिलोय को ज्यादातर काढ़ा बनाकर पीना चाहिए।

गिलोय का काढ़ा बनाने के लिए आप सामग्री में  “दो इंच अदरक ,3-4 तुलसी के पत्ते ,उंगली के जितनी गिलोय , दो काली मिर्च और दो लॉन्ग ले ।

अब दो ग्लास पानी में तुलसी ,अदरक और गिलोय को डाल के उबाल लें और इसे टैब तक उबाले जब तक पानी आधा न हो जाये और फिर इसमें लोंग व काली मिर्च डाल कर ढंख कर रख दे।

5-10 मिनट रुकने के बाद इसे छान कर पी लें।इस काढ़े को रोज़ाना आधा ग्लास दिन में एक बार पीना है।

गिलोय को सुबह-शाम चूर्ण बनाकर खाना चाहिए।गिलोय का प्रयोग आप सुबह शाम शहद के साथ  भी  कर सकते  है।

गिलोय का ज्यादा सेवन नुकसान भी कर सकता है।

गिलोय की टैबलेट्स

गिलोय की उपलब्धता सभी जगह होना आसान नही है इसके लिए आप मेडिकल या Online Giloy Tablets भी ले सकते है। अगर आप वयस्क है तो 1 दिन में 2 टैबलेट्स व बच्चो के लिए 1 टैबलेट का सेवन काफी है।

Note :- इनका सेवन करने से पूर्व एक बार वैद्य का परामर्श ज़रूर ले लेवे।

Conclusion On Giloy In Hindi

तो यह थे एक चमत्कारी औषधि ,आयुर्वेद की अम्रता अर्थात गिलोय के फायदे (Benefits Of Giloy In Hindi) ,नुकसान व गिलोय से जुड़ी पूरी जानकारी ।अगर आपको यह पोस्ट पसन्द आई हो तो इसे शेयर जरूर करे और आगे भी हमारे साथ जुड़े रहे।

Read MoreAlso You Need To Know About Peanut Butter

Related Posts


About Yogesh Jain

Leave a Comment