मापन का अर्थ – परिभाषा, क्षेत्र, विशेषताएं व आवश्यकता Measurement In Hindi

आज इस आर्टिकल में बात करेंगे कि Psychology में मापन का अर्थ क्या है? Measurement In Hindi, मापन की परिभाषाएं और मापन के क्षेत्र क्या है? मापन की विशेषताएँ और मापन की आवश्यकता कहां होती है?

मापन का अर्थ - परिभाषा, क्षेत्र, विशेषताएं व आवश्यकता
मापन का अर्थ – परिभाषा, क्षेत्र, विशेषताएं व आवश्यकता

मापन का अर्थ (Meaning Of Measurement)

मापन से हमारा तात्पर्य मानसिक मापन से लिया जाता है प्राय: मापन मूल्यांकन का ही एक अंग माना जाता है। मूल्यांकन के लिए मापन आवश्यक माना जाता है। 

मापन नियमों के अनुसार वस्तुएं या घटनाओं के अंक प्रधान करता है, तकनीकी शब्दों में मापन के द्वारा किसी तथ्य के विभिन्न आयामों को प्रतीक प्रदान करना ही मापन है।

मापन की परिभाषा (Definitions Of Measurement)

मापन की परिभाषा कई मनोवैज्ञानिक ने दी है।

क्लासमेयर एवं गुडविन के अनुसार – ” शैक्षिक मापन विद्यार्थी अधिगम, शिक्षण प्रभावशीलता या किसी अन्य शैक्षिक पक्ष की मात्रा, विस्तार और कोटि के निर्धारण से संबंधित है।”

करलिंगर के अनुसार – ” मापन नियमानुसार वस्तुओं या घटनाओं को संख्या प्रदान करना है।”

ब्रेडफील्ड तथा मोरेडॉक के अनुसार – ” मापन के द्वारा किसी तथ्य के विभिन्न आयामों को प्रतीक प्रदान करना ही मापन है।”

Related:  मनोविज्ञान की शाखाएँ / क्षेत्र

ई.बी. वेस्ले के अनुसार – ” मापन मूल्यांकन का वह भाग है जो प्रतिशत, मात्रा, अंकों, मध्यमान तथा औसत आदि के द्वारा किया जाता है।”

मापन के क्षेत्र 

  1. बुद्धि परीक्षण 
  2. उपलब्धि परीक्षण 
  3. अभिक्षमता परीक्षण 
  4. रुचि परीक्षण
  5. व्यक्तित्व परीक्षा

मापन की विशेषताएं

  1. मापन एक संकुचित प्रक्रिया है। 
  2. मापन के द्वारा एक निश्चित अंक की प्राप्ति की जा सकती है।
  3. मापन के माध्यम से किसी भी व्यक्ति की लंबाई, चौड़ाई, भार आदि का एक सांख्यिकी गणना की सहायता से/ थर्मामीटर/स्केल की सहायता से मापन किया जा सकता है।

मापन की आवश्यकता

मापन संख्यात्मक होता है तथा मापन की आवश्यकता गणित में सबसे अधिक होती है।

मापन हमारे दैनिक जीवन में बहुत महत्वपूर्ण भाग है।मापन के द्वारा हम किसी वस्तु आदि के भार को बता सकते हैं।

एक उदाहरण से समझते हैं – जैसे दो बालक रोहन और रोहित खेल रहे हैं और रोहन के पास रोहित से ज्यादा खिलौने हैं अर्थात रोहित के पास रोहन से कम खिलोने हैं लेकिन इनके बीच का अंतर स्पष्ट नहीं है कि उनके पास कितने खिलौने कम या ज्यादा हैं तो संख्यात्मक रूप से दर्शाने पर ही यह अंतर स्पष्ट हो सकता है।

इसी प्रकार भौतिकी में भी मापन का उपयोग होता है। प्रकाश वर्ष की दूरी मापने में या फिर पलायन वेग जो कि 11.2 Km है इत्यादि के लिए मापन की ही आवश्कता होती है।

मूल्यांकन क्या है? मूल्यांकन व मापन में अंतर, विशेषताएं व विधि
Share On :-
    Share on:                        

में अपने शौक व लोगो की हेल्प करने के लिए Part Time ब्लॉग लिखने का काम करता हूँ और साथ मे अपनी पढ़ाई में Bed Student हूँ।मेरा नाम कविश जैन है और में सवाई माधोपुर (राजस्थान) के छोटे से कस्बे CKB में रहता हूँ।

   

Leave a Comment