टैक्स / कर क्या है ? कितने प्रकार के होते है? Tax In Hindi

Tax In Hindi :- सरकार के द्वारा लोगों की भलाई व विकास कार्य करवाने हेतु टैक्स वसूल किया जाता है लेकिन लोगों में इसकी पर्याप्त जानकारी न होने के कारण लोग टैक्स के नाम से डरते हैं और भारत में कर चोरी भी भी कई लोग करते हुए पकड़े जाते हैं समझाने की “(What is Tax In Hindi) कर क्या होता है? कर कितने प्रकार के होते हैं?”।

दुनिया भर में रहने वाले सभी लोग वहां की स्थानीय सरकार को किसी ना किसी प्रकार से कर का भुगतान करते हैं। हम यहां पर भारत में दिए जाने वाले कर के बारे में बात करेंगे।

Detail Of Tax In Hindi
Tax In hindi

Tax / कर क्या है? What Is Tax In Hindi

कर एक प्रकार का अनिवार्य भुगतान जिस व्यक्ति को अनिवार्य रूप से सरकार को देना पड़ता है जो कर आधार से संबंधित होता है तथा जिसके बदले करदाता को आवश्यक रूप से कोई लाभ नहीं प्राप्त होता है।

कर आधार से आशय है जिस को आधार बनाकर कर लगाया जाता है जैसे कि आयकर को आय के आधार पर लिया जाता है तो यह उसका कर आधार हैं।

कर कितने प्रकार के होते है? Types Of Tax In Hindi

कर दो प्रकार के होते है।

  • प्रत्यक्ष कर 
  • अप्रत्यक्ष कर / Indirect Tax

भारत मे कर केंद्र व राज्य दोनो के द्वारा वसूले जाते है।

प्रत्यक्ष कर (Direct Tax)

प्रत्यक्ष कर उसे कहा जाता है जिनके मौद्रिक तथा वास्तविक बोझ अर्थात कर से उत्पन्न होने वाला प्रभाव Impact तथा Incidence (करापात) उसी व्यक्ति पर पड़ते हैं, जिनके ऊपर सरकार कर लगाती है।जब आप Return भरते है या आपकी Salery से सीधे सरकारी खजाने में यह टैक्स चला जाता है।

केंद्र सरकार के प्रत्यक्ष कर 

  • व्यक्तिगत आयकर
  • उपहार कर
  • निगम कर
  • आस्ति कर (Estate Duty)
  • व्यय कर
  • संपत्ति कर
  • लाभांश कर
  • ब्याज कर

राज्य सरकार के प्रत्यक्ष कर

  • होटल प्राप्तियो पर कर
  • भू-राजस्व कर
  • कृषि आय पर कर
  • व्यवसाय कर
  • गैर शहरी सम्पत्तियों पर कर
  • पथ कर
  • रोजगार कर

अप्रत्यक्ष कर ( InDirect Tax):-

अप्रत्यक्ष कर बिजनेस करने वाले लोगों के लिए होता है जैसे कि VAT कर, जीएसटी आदि। उस टैक्स का भुगतान देश के सभी नागरिकों को करना होता है।

जब भी आप बाजार से सामान खरीदने जाते हैं तो उस पर कुछ टैक्स लगे होते हैं , जिनका पेमेंट आपको करना होता है अर्थात इसका आप पर सीधे प्रभाव नहीं पड़ता लेकिन फिर भी आपको यह टैक्स देने पड़ते हैं।

केंद्र सरकार के अप्रत्यक्ष कर 

  • सीमा शुल्क
  • केंद्रीय उत्पाद शुल्क
  • केन्द्रीय बिक्री कर
  • सेवा कर (1994 -95 से)

राज्य सरकार के अप्रत्यक्ष कर

  • बिक्री /व्यापार कर
  • राज्य उत्पाद शुल्क
  • वाहनों पर कर
  • विज्ञापन कर
  • शिक्षा उपकर
  • डीज़ल पेट्रोल पर कर

Note :- वर्तमान में सरकार द्वारा केवल एक ही अप्रत्यक्ष कर लगाया जाता है वो है “GST”। 

GST (GOODS & SERVICE TAX) वस्तु एवं सेवा कर

भारत में 1 जुलाई 2017 से वस्तु एवं सेवा कर के वयवस्था को लागू किया गया है।इसके अंतर्गत भारत में केंद्र एवं राज्य सरकार के द्वारा लगाए जाने वाले सभी करों को हटाकर केवल एक ही GST TAX लगेगा जो सभी वस्तु एवं सेवा के ऊपर लागू होगा अर्थात किसी वस्तु पर लगने वाला कर पूरे देश में एक जैसा ही होगा।

GST TAX को  टैक्स स्लैब में विभाजित किया है जो कि 0.25% , 5% ,12% ,18% व 28% की दर से रखा गया है।

Tax कब लगता है?

जैसा कि आपने ऊपर पड़ा टैक्स प्रत्येक नागरिक को देना होता है,चाहे वह प्रत्यक्ष रूप से हो या अप्रत्यक्ष रूप से। 

राज्य सरकार और केंद्र सरकार ने टैक्स वसूल करने के लिए अपने कुछ नियम बनाये है, उन नियमों को आधार बनाकर ही टैक्स वसूल किया जाता है जैसे कि अगर आपकी आय ज्यादा है तो आपको अपनी लाभ वाली आय पर आयकर भरना होगा।

Tax क्यों लगता है?

कई लोग इस बात से परेशान रहते हैं कि कि जब पैसे वह कमाते हैं तो उनसे टेक्स क्यों वसूल किया जाता है?

इसका कारण यह है कि सरकार लोगों की भलाई वह विकास कार्य करवाने हेतु देश के नागरिकों से टैक्स वसूल करती है और यह टेक्स देश की अर्थव्यवस्था व विकास कार्य को आगे बढ़ाने में मदद करता है।

जैसे कि आप अपने आसपास देख सकते हैं कई हॉस्पिटल ,सड़के आदि कई प्रकार की सुविधाये मुफ्त में सार्वजनिक रूप से सरकार द्वारा प्रदान की जाती है इन सबके लिए पैसा सरकार टैक्स द्वारा ही वसूल करती है।

तो दोस्तो इस आर्टिकल में हमने जाना कि ” टैक्स क्या है और टैक्स के प्रकार ? (What Is Tax In Hindi And Types Of Tax)” । Post को Share ज़रूर करे।



About Kavish Jain

में अपने शौक व लोगो की हेल्प करने के लिए Part Time ब्लॉग लिखने का काम करता हूँ और साथ मे अपनी पढ़ाई में Bed Student हूँ।मेरा नाम कविश जैन है और में सवाई माधोपुर (राजस्थान) के छोटे से कस्बे CKB में रहता हूँ।

Leave a Comment