Information About Sparrow In Hindi गौरैया चिड़िया के बारे में जानकारी

Information About Sparrow In Hindi – Sparrow bird दिखने में भले ही छोटी होती है, लेकिन यह बहुत ही अट्रैक्टिव होती है। यह bird देश के हर एक कोने में पाई जाती है इसमे भारत भी शामिल है। तो चलिए आज खुबिया और Information About Sparrow In Hindi मे जानते हैं।

Information About Sparrow In Hindi गौरैया चिड़िया के बारे में जानकारी

स्पैरो बहुत ही एक निंबल वर्ड होती है। जो स्पैरो बर्ड होते हैं इनकी कई प्रजातियां देखने को मिलती है। यह बहुत सारी प्रजाति में बटे होते हैं। इनकी जो प्रजातियां मिलती है वह 30 भागों में बटी होती हैं जिसमें सबसे ज्यादा अच्छा जाना जाता है हाउस स्पैरो और पसर डॉमेस्टिकस। 

Information About Sparrow In Hindi
Information About Sparrow In Hindi

Sparrow Bird Outer look गौरैया चिड़िया का बाहरी दिखावा

स्पैरो चिड़िया बहुत ही छोटी होती है वह तकरीबन 11 से 18 सेंटीमीटर के बीच में होती है और इनका जो भार होता है वो केवल 13 से 42 ग्राम के बीच में होता है। इनकी बहुत ही छोटी सी पूछ होती है। स्पैरो बर्ड की छोटे-छोटे पंख होते हैं। इनके जो चोंच होते हैं वह पीले कलर के होते हैं लेकीन बहुत ही स्ट्रॉन्ग होते हैं, और जो इनका पैर होता है वह भूरे कलर में होता है। इनकी पूरी बॉडी हल्की ग्रे ब्लैक में होती है, और इनके गर्दन पर छोटे छोटे काले धब्बे जैसे निशान मिलते हैं। 

स्पैरो में मेल और फीमेल दोनों होते हैं यह दोनों ही दिखने में बहुत अलग होते हैं। मेल स्पैरो जो होता है वह बहुत ही अट्रैक्टिव दिखता है यहां तक कि फीमेल स्पैरो से भी ज्यादा अट्रैक्टिव होता है। 

हाउस स्पैरो प्रजाति में मेल और फीमेल दोनों ही दिखने में अलग होते हैं उनके कलर भी अलग होते हैं। जो मेल होता है वह ब्राउन, ग्रे और सफेद कलर में होता है इसका जो throat होता है वह काला होता है। जो फीमेल हाउस स्पैरो की प्रजाति होती है वह ब्राउन और डार्क येलो या फिर क्रीम कलर में होती हैं।

Sparrow Bird Diet In Hindi गौरैया चिड़िया का खाना

स्पैरो एक सोशल बर्ड होता है यह हमेशा ग्रुप में रहता है। स्पैरो एक सर्वाहारी चिड़िया होती है। यह सब कुछ खाते है जैसे सीड्स, grains, fruits और इंसेक्ट्स और भी बहुत कुछ।

Sparrow Bird House In Hindi गौरैया चिड़िया का घर

बहुत पहले स्पैरो बर्ड केवल यूरोप और एशिया और अफ्रीका में देखने को मिलते थे। लेकिन लोगों को यातायात के बाद अब वह हर जगह दिखना शुरू हो गए। लेकिन अभी भी वेस्टर्न आस्ट्रेलिया में स्पैरो देखने को नहीं मिलता। स्पैरो चिड़िया अपना घोंसला घर के छत के ऊपर बनाते हैं या फिर पेड़ो के टहनियों पर बनाते है, बिल्डिंग पर बनाते हैं, ब्रिज पर बनाते हैं और जो शहरी क्षेत्र होता है स्पैरो चिड़िया वहां पर इंसान के घरों में ही बनाते हैं। जो पूरे दुनिया में एक ऐसी चिड़िया है जो कहीं भी आसानी से देखने को मिल जाती है।

हैबिट / आदत

स्पैरो बर्ड की दो या तीन बच्चे/अंडे हर साल होते हैं इसका मतलब क्या है कि इनके जो सेट ऑफ eggs या फिर चिक्स जो होते हैं वह दो या तीन हर साल होते हैं।

लाईफ साईकिल

स्पैरो बर्ड बहुत ही फ्लैक्सिबल होते हैं वह सभी तरह के क्लाइमेट को एडॉप्ट कर लेते हैं। उनका जो जीवन चक्र होता है वह 4 से 7 साल के बीच में ही होता है। यह चिड़िया 24 माइल पर घंटा बहुत ही तेजी से उड़ती है। स्पैरो बर्ड जो होते हैं वह मोस्टली झुंड में जीना पसंद करते हैं। 

इन चिड़िया को बहुत ही मुश्किल से hill वाले एरिया में देखा जाता है। लेकिन यह बहुत ही दुख की बात है कि स्पैरो बर्ड की मौत इंसानी कारणों से होती है, हम जो इंसानों ने पॉल्यूशन एनवायरनमेंट मे बनाया है या फिर और भी दूसरे कारण हैं जिसकी वजह से इनकी मौतें हो रही हैं। इसीलिए स्पैरो चिड़िया धीरे-धीरे गायब होती जा रही है। जिसे देखना अब मुश्किल होता जा रहा है। 

हर साल इनके बारे में अवेयरनेस बढ़ाने के लिए, जानकारी बढ़ाने के लिए और इन को सुरक्षा देने के लिए हम हर साल 20 मार्च को पूरी दुनिया भर में “वर्ल्ड स्पैरो डे” के नाम से सेलिब्रेट कर करते हैं। जिससे लोगों में इनके बारे में जानकारियां बढ़े और इन को ज्यादा से ज्यादा प्रोटेक्शन दिया जाए ताकि इनकी जो प्रजातियां खत्म हो रही है उसे बचाया जा सके।

स्पैरो का गायब होना 

जिस तरीके से वर्तमान में जंगलों की कटाई हो रही है पेड़ों की कटाई हो रही है और पॉल्यूशन बढ़ता जा रहा है इसका रिजल्ट यह होता है कि इससे टेंपरेचर बढ़ जाता है जिससे स्पैरो चिड़िया खाने की तलाश में और घोसले की तलाश में सिटी से भागते जा रहे हैं। हालांकि यह भी सच है कि वह गांव वाले एरिया में आराम करने को नहीं मिलता है। क्योंकि विलेज ज्यादा आबादी वाला एरिया होती है, जिसकी वजह से उन्हें आराम करने को नहीं मिलता। हम इस्पैरो day हर साल सेलिब्रेट करते हैं लोगों में जागरूकता बढ़ाने के लिए ताकि, इन चिड़िया की पापुलेशन को बढ़ाया जा सके, इनको नई जिन्दगी दी जा सके। 

Sparrow Bird Facts In Hindi 

  1. स्पैरो को बचाने के लिए as a स्टेट बर्ड बिहार में डिक्लेअर हो चुका है।
  2. पहले ब्रिटेन में स्पैरो बहुत ही कॉमन बर्ड हो गई थी लेकिन अब इसका रेश्यो धीरे-धीरे घटता जा रहा है कुछ टाइम से।
  3. ईस्ट एशिया में स्पैरो बहुत ही कॉमन होते हैं लेकिन यह हाउस स्पैरो नहीं होते यह ट्री स्पैरो होते हैं।
  4. यह बहुत ही सोशल बोर्ड होता है इन फैक्ट अपना घोंसला कॉलोनी और घरों पर ही बनाता है, इसे लोगों से करीब रहना काफी पसंद आता है।
  5. स्पैरो वेजिटेरियन होते हैं लेकिन जो यंग बर्ड होते हैं उन्हें हाई प्रोटीन की जरूरत होती है इसलिए वह इंसेक्ट भी खाते हैं अपने डाइट को कंप्लीट करने के लिए।
  6. हाउस स्पैरो चिड़िया कैट, डॉग, स्नेक और फॉक्स के खासकर शिकार बन जाते हैं।
  7. हालांकि स्पैरो किसी भी वाटर बर्ड की फैमिली से बिलॉन्ग नहीं करती फिर भी यह बहुत ही फास्ट स्विमिंग कर सकती है यह इसकी विशेषता होती है। 
  8. आपको पता है कि स्पैरो बर्ड की बहुत ही खूबसूरत आवाज होती है और उनकी चहचहाहट होती है वह हर जगह सुनने को मिलती है।
  9. कुछ स्पैरो की प्रजातियां शामिल है वेस्पर स्पैरो, white-crowned स्पैरो, सॉन्ग स्पैरो और फॉक्स स्पैरो। यह कुछ ऐसी प्रजातियां हैं जो बहुत ही फेमस प्रजातियां हैं।

Conclusion On Information About Sparrow In Hindi

Information About Sparrow In Hindi language से संबंधित आपका कोई सवाल, फीडबैक है या फिर कोई experience है तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं और शेयर कर सकतें है।


Leave a Comment