स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध – उद्देश्य ,लाभ और हानि Swachh Bharat Abhiyan In Hindi

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध (Swachh Bharat Abhiyan In Hindi  ) – भारत प्राचीन समय से ही स्वच्छता का देश रहा है। मगर जनसंख्या बढ़ने के कारण या शहरीकरण बढ़ने के कारण भारत स्वच्छता से दिनोंदिन दूर चला गया।

इसके कारण विदेशी लोग जो भारत में घूमने आते हैं वह वापिस जाने के बाद भारत देश की स्वच्छता को लेकर बोलते कि भारत एक अस्वच्छता वाला देश है।

मगर कुछ वर्षों से भारत सरकार ने स्वच्छता के लिए कुछ अभियान चालू किया जिसके कारण शहरों गांव में गंदगी काफी कम हो गई।

इस अभियान का नाम रखा गया स्वच्छ भारत अभियान

यह अभियान बहुत ही चर्चा में रहा व काफी हद तक अपने लक्ष्य में सफल भी हुआ।

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध । swachh bharat abhiyan in hindi  

Swachh Bharat Abhiyan In Hindi
Swachh Bharat Abhiyan In Hindi

1.स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत

भारत की बिगड़ती हुई छवि को देखते हुए उसमें सुधार करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महात्मा गांधी के 145 वीं जयंती के अवसर पर 2 अक्टूबर, 2014 को स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत की थी । 

उनका लक्ष्य था कि 2 अक्टूबर 2019 को जब देश में महात्मा गांधी की 150वी जयंती मना रहे हो तब तक महात्मा गांधी की ‘स्वच्छता भारत अभियान’ को साकार होते हुए देखना चाहते थे।

जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2 अक्टूबर 2014 को स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत की तब उन्होंने अपने भाषण में कहा था की “एक स्वच्छ भारत के द्वारा ही देश 2019 में महात्मा गांधी की 150 वी जयंती पर , अपनी स्वच्छता में सुधार करते हुए, उनको सच्ची श्रद्धांजलि दे सकता हैं।”

2.स्वच्छ भारत अभियान में स्वच्छ पर्यावरण का महत्व

स्वच्छ पर्यावरण की आवश्यकता क्यों है, शायद आप जानते होंगे की भारत में पेड़ काटने वालों पर कोई भी ध्यान नहीं देता है।

खुले में शौच करने वाले व तालाब को दूषित करने वालों पर भी कोई ध्यान नहीं देता, जिसके कारण पर्यावरण दूषित होता जा रहा है।

अगर पर्यावरण दूषित होगा तो भविष्य में काफी बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता है। 

अधिकतर पर्यावरण दूषित होने का कारण यही माना जाता है की नए पेड़ लगाने की बदले पुराने पेड़ों को काटा जाता है।

अगर हम सभी पेड़ लगाने लग जाए तो पर्यावरण कम दूषित होगा और यातायात साधनों का जरूरत पड़ने पर ही उपयोग मे ले तो उनसे प्रदूषण कम फेलेगा।

अगर हम इन चीजों को ध्यान मे रखेंगे तो पर्यावरण स्वच्छ रहेगा

3. अस्वच्छ भारत के दुष्प्रभाव

अस्वच्छ भारत का क्या दुष्प्रभाव होगा?। 

अगर आप वातावरण में समय के साथ-साथ गंदगी फैलाएंगे , खुले में शौच करोगे तो उनसे कई प्रकार की बीमारियां हो जाती है। जैसे मलेरिया , बुखार, खांसी , जुखाम आदि।

यह बीमारियां होने का कारण यही है कि आप गंदगी करते हो और सफाई का ध्यान नहीं रखते इसीलिए घर की सफाई के साथ बाहर की सफाई भी रखना बहुत जरूरी है।

अगर आप बाहर की सफाई रखेंगे तो रोड साफ सुथरा होंगे जिससे आप बीमार नहीं पडोगे।साफ सफाई रखें तो आप कई बीमारियों से दूर रह सकते हो।

अगर आपको इन बीमारियों से बचना है तो घर में शौचालय जरूर बनवाएं और कोई बाहर की चीज है तो कचरे को रोड पर ना फेंके, उसको कचरे पात्र में ही डालें।

अगर आप कचरा नहीं फेलाएंगे तो आप कई बीमारियों से बच सकते हैं।

यह स्वच्छ भारत अभियान रखा गया था क्योंकि आने वाली पीढ़ी को भी साफ सफाई का ध्यान रखना चाहिए। अगर हम भी ध्यान नहीं रखेंगे तो हमारी आने वाली पीढ़ी भी साफ सफाई का कैसे ध्यान रख पाएगी इसलिए हमेशा साफ सफाई का ध्यान रखना चाहिए।

4. पर्यावरणीय स्वच्छता और पेयजल

आप जानते ही होंगे कि जल कि भूमिका हमारे जीवन में क्या है। “जल ही जीवन है” क्योंकि जल बिना हमारा जीवन है ही नहीं इसलिए हमें जल को अशुद्ध नहीं करना चाहिए।

हमें जल साफ सुथरा ही पीना चाहिए और हमें जल की बचत करनी चाहिए।

जल को बेकार नहीं करना चाहिए।जल में कचरा नहीं फेंकना चाहिए।

हमें जल हमेशा साफ करके ही पीना चाहिए।अगर आप गंदा पानी पियोगे तो आपको बीमारियां हो सकती है।

आप जानते हैं कि कई लोगों को स्वच्छ जल नहीं मिल पाता है।बहुत से लोग ऐसे भी हैं जिनको जल की कमी महसूस होती है।

मतलब एक तरीके से बोला जाए तो उनको जितना जल चाहिए उतना उनको जल नहीं मिल पाता है।

आने वाले समय में क्या पता जल की कितनी कमी हो इसलिए हमें जल को बेकार करने से बचना चाहिए ताकि आने वाली पीढ़ी जल से वंचित न रहे और किसी परेशानी का सामना न करना पड़े।

 Conclusion on Swachh Bharat Abhiyan In Hindi ( निष्कर्ष )

स्वच्छ भारत अभियान भारत को स्वच्छ बनाने के लिए शुरू किया गया था। अतः लोगो को अपने देश को स्वच्छ बनाने के लिए इसमें सहयोग करना चाहिए। 

साथ ही खुले में शौच करने वालो को कम करने के लिए सरकार ने खुले में शौच मुक्त भारत का सपना देखा था और शौचालय बनाने के लिए लोगो को सब्सिडी भी दी गयी।

इसका अच्छा खासा प्रभाव लोगो पर पड़ा है और कई गांव व शहर के लोग खुले में सोच से मुक्त हुए है।

स्वच्छ भारत अभियान क्या है? इसके उद्देश्य व इसके लाभ, हानि पर यह निबंध (Swachh Bharat Abhiyan In Hindi ) आपको समझ मे आया होगा।

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध को सोशल मीडिया पर ज़रूर शेयर करे और हमसे जुड़े रहे।

Related Posts


About Kavish Jain

में अपने शौक व लोगो की हेल्प करने के लिए Part Time ब्लॉग लिखने का काम करता हूँ और साथ मे अपनी पढ़ाई में Bed Student हूँ।मेरा नाम कविश जैन है और में सवाई माधोपुर (राजस्थान) के छोटे से कस्बे CKB में रहता हूँ।

Leave a Comment