पुनर्बलन का अर्थ और इसके प्रकार

आज इस आर्टिकल में हम जानेंगे मनोविज्ञान में पुनर्बलन का अर्थ और प्रकार क्या है?

पुनर्बलन का अर्थ
पुनर्बलन का अर्थ

पुनर्बलन का अर्थ (Reinforcement in Hindi)

ऐसा उद्दीपक जो क्रिया के दौरान या क्रिया की समाप्ति पर दिया। जाता है, पुनर्बलन (Reinforcement) कहलाता है।

पुनर्बलन के प्रकार

पुनर्बलन दो प्रकार के होते हैं।

सकारात्मक पुनर्बलन (Positive Reinforcement)

ऐसा पुनर्बलन जो सही अनुक्रियाओं की दर को बढ़ाता है, सकारात्मक पुनर्बलन कहलाता है।

नकारात्मक पुनर्बलन (Negative Reinforcement)

ऐसा पुनर्बलन जो सही अनुक्रियाओं की दर को कम करता है, नकारात्मक पुनर्बलन कहलाता है।

Share your love
Default image
Kavish Jain

में अपने शौक व लोगो की हेल्प करने के लिए Part Time ब्लॉग लिखने का काम करता हूँ और साथ मे अपनी पढ़ाई में Bed Student हूँ।मेरा नाम कविश जैन है और में सवाई माधोपुर (राजस्थान) के छोटे से कस्बे CKB में रहता हूँ।

Articles: 186

Leave a Reply

Your email address will not be published.